संगीत द्वारा रोगों का इलाज

अस्थमा

इस रोग  में राग मालकोस व राग ललित से संबन्धित निम्न  गीत  सुनने चाहिए ।

-तू छुपी हैं कहाँ   – फिल्म नवरंग

  • तू है मेरा प्रेम देवता  – फिल्म कल्पना
  • एक शहँशाह ने बनवा के हंसी ताजमहल  –  फिल्म लीडर
    -मन तड़पत हरी दर्शन को आज  – फिल्म बैजू बावरा
  • आधा है चंद्रमा  – फिल्म नवरंग

सिरदर्द

इस रोग के होने पर राग भैरव  के गीत सुनने से गहरा असर होता है होता है |

मोहे भूल गए सावरियाँ  – फिल्म बैजू बावरा
राम तेरी गंगा मैली  – शीर्षक गीत
-पूंछों ना कैसे मैंने रैन बिताई – फिल्म तेरी सूरत मेरी आँखें
सोलह बरस की बाली उमर को सलाम – फिल्म एक दूजे के लिए

अवसाद, अल्जाइमर और डेमेन्सिया

  • इन मानसिक रोगों के उपचार में संगीत  बेहद कारगर साबित हुआ है। संगीत द्वारा रोगों का इलाज ऐसे उपचार के दौरान यदि संगीत मरीज के पंसद का हो तो उसका असर और बेहतर होता है। यह सिर्फ एक कथन नहीं है बल्कि परीक्षणों में यह साबित हुआ है।

नकारत्मक सोच

नियमित तौर पर कर्णप्रिय संगीत सुनने से जीवन के प्रति नकारात्मक सोच और तनाव जैसी चीजों से छुटकारा मिलता है। यह दिलो दिमाग को ताजा रखता है और सकारात्मक सोच को बढ़ावा देता है।

मलेरिया

  • राग मालकौंस,जो कि भैरवी थाट का प्रसिध्द राग है,इस राग को मार्वा राग के साथ गाया जाए तो मलेरिया नियंत्रित होता है।

-राग मालकौंस हिन्डोल बुखार के तापक्रम को कम कर देता है।

तनाव

-राग दरबारी का बडा खमाज और राग पूरिया मानसिक तनाव को कम करते है।

-राग भोपाली व टोडी अति तनाव की स्थिति को ठीक कर देते है।

थकावट

  • जब बादशाह अकबर दिनभर के राजकाज से थक हार कर रात्रि विश्राम करते थे तो तानसेन राग दरबारी सुनाकर उनका दिमागी तनाव दूर करता था।

मधुरता

  • राग पूरिया घनाश्री मन को मधुरता और स्थिरता  प्रदान करता है,
  • राग बागेश्वरी मन में  शान्त संगीत द्वारा रोगों का इलाज सुखदायी और आनंददायी भावनाएं उत्पन्न करने वाला राग है।

-राग असावरी निम्र रक्तचाप ( लो बीपी) में राग चन्द्रकौंस दिल की बीमारी के लिए गाया जाता है।

मानसिक पीड़ा

-राग तिलक कामोद तथा विहाग अनिन्द्रा तथा मानसिक पीडीतों के लिए उत्तम है ।

  • सभी राग यू ट्यूब पर उपलब्ध है । संगीत द्वारा रोगों का इलाज अपनी जरूरत अनुसार इन्हे डाउन लोड कर सकते है । सुन कर देख लेना जो बहुत अच्छा लगे उसे अपना लेना ।

कोशिश करो बहुत कम आवाज में 24 घंटे ये सुनते रहें । संगीत द्वारा रोगों का इलाज रात को घर के एक कोने में यह संगीत लगा कर छोड़ दें । यह आवाज इतनी कम रखनी है ताकि किसी की नींद खराब ना हो ।  इस की कम आवाज वायु में कम्पन फैला देती है जिसे हमारा मन कैच कर लेता  है।

Add comment

Your email address will not be published.

19 + 20 =