मिट्टी के बरतन हमारे लिए बहुत ही भाग्यशाली है और अपने जीवन में मिटटी के रंग घोले कोई रत्न की जरुरत ही नहीं पड़ेगी ग्रह ख़राब हो या पारिवारिक परेशानी इन सब का सटीक उपाय मिटटी से बने ये बर्तन घर में लाते हैं सौभाग्य और समृद्धि

मिट्टी के बरतन की जीवन मे उपयोगिता

मिट्टी के बरतन हमारे लिए बहुत ही भाग्यशाली है और अपने जीवन में मिटटी के रंग घोले कोई रत्न की जरुरत ही नहीं पड़ेगी ग्रह ख़राब हो या पारिवारिक परेशानी इन सब का सटीक उपाय मिटटी से बने ये बर्तन घर में लाते हैं सौभाग्य और समृद्धि
जैसा की हम सब जानते है कि मनुष्य का शरीर पांच तत्वों से मिलकर बना है और मृत्यु के बाद वह इसी में लीन हो जाता है।
इन्हीं पांच तत्वों में से एक है धरती यानी की मिट्टी। मिट्टी को प्रकृती की सबसे उपयोगी वस्तु कहा जाए तो गलत नहीं है।
यह मजबूती के साथ-साथ सौभाग्य, धन और सफलता को भी आधार देती है।
ऐसा माना गया है कि हर व्यक्ति को मिट्टी या भूमि तत्व के पास ही रहना चाहिए।
इनसे दूरी बनाना किसी के लिए भी सही नहीं माना गया है। प्राचीन काल में अधिकतर लोग मिट्टी के बर्तनों का ही इस्तेमाल करते थे।
भोजन करना हो या मिट्टी के बरतन  फिर झूठे बर्तन साफ करना हों, मिट्टी के बरतन साफ-सफाई हो या फिर पूजा से संबंधित कार्य हों हर कार्य में मिट्टी का उपयोग अनिवार्य होता था।
वास्तुशास्त्र के अंतर्गत भी मिट्टी को महत्वपूर्ण कहा गया है। मिट्टी के बरतन से पानी पीना या घर में मिट्टी के बर्तन रखना अत्यंत लाभदायक माना गया है।
कहा जाता है की ऐसा करने से आपके आसपास सकारात्मक ऊर्जा का प्रभाव बना रहता है।
प्राचीन काल से लेकर हमारे नाना-दादा के जमाने में मिट्टी के बरतन  घरों में भिन्न-भिन्न आकारों के मिट्टी के घड़े या बर्तन होते थे।
लेकिन c के अनुसार मिट्टी के कुछ बर्तन ऐसे हैं जो हर घर में होने ही चाहिए।
जो लोग चाहते हैं कि उनके जीवन में सुख-समृद्धि और सफलता हमेशा बरकरार रहे उन लोगों को कुछ विशेष प्रकार के मिट्टी के बर्तन अपने घर में रखने चाहिए।
मिट्टी के इन उपयोगी बर्तनों में सबसे पहला नाम है घड़े का।
बहुत से परिवारों में घड़े का पानी पिया जाता है, घड़े का पानी पीने से बुध और चंद्रमा का प्रभाव शुभ होता है।
यहां तक कि विज्ञान भी यह मानता है मिट्टी के बरतन कि घड़े का पानी सेहत के लिए अत्यंत लाभकारी होता है।
अगर आपके घर में घड़ा हैं तो इसे अपने घर की उत्तर-पूर्वी मिट्टी के बरतन दिशा में ही रखें, ऐसा करने से आपके घर और आसपास के वातावरण की सभी नकारात्मक ऊर्जा को समाप्त करता है।मिट्टी के बरतन
इसके अलावा ऐसा करने से आपके परिवार में सुख और समृद्धि के मार्ग भी खुल जाते हैं।
घर में कोई व्यक्ति तनाव ग्रस्त हैं मिट्टी के बरतन  या मानसिक रूप से परेशान है तो आप उन्हें घड़े से किसी भी पौधे को पानी देने के लिए कहें।
कहा जाता है लस्सी और चाय कुल्हड़ में पीने का मजा ही कुछ और है, लेकिन मिट्टी से बने ये गिलास मंगल ग्रह के दुष्प्रभाव से भी मुक्ति दिलवाते हैं।
इसलिए जो लोग मंगल के कोप से प्रभावित है, उन्हें कोई भी पेय पदार्थ कुल्हड़ में ही पीने चाहिए।
सिर्फ इतना ही नहीं बल्कि इसके अलावा हर शनिवार के दिन किसी कुल्हड़ में पानी भरकर पीपल के पेड़ के नीचे रखने से भी आपको लाभ मिलेगा।
आप कुल्हड़ में पानी भरकर अपनी छत पर भी प्यासे पक्षियों के लिए रख सकते हैं, ऐसा करने से अगर आप नौकरी की तलाश कर रहे हैं तो आपकी तलाश जल्द पूरी होगी।
मिट्टी से बनी भगवान की मूर्ति को घर में रखने से भी आपकी धन संबंधी परेशानियां तो दूर हो सकती हैं, साथ ही धन की स्थिरता भी बनी रहती है। धर्म के अनुयायियों के घर दीप या दीया का मिलना एक सामान्य बात है। कोई त्यौहार हो या फिर खुशी का अवसर, घर में मिट्टी के दीये से रोशनी अवश्य की जाती है।
कहा जाता है की जो लोग धन संबंधी परेशानियां झेल रहे हैं उन्हें हर शनिवार मिट्टी का दीया पीपल के पेड़ के नीचे जलाना चाहिए!

 

Add comment

Your email address will not be published.

one × 3 =