डायबिटीज का घरेलू उपचार

नियमित रूप से दो चम्मच नीम का रस-

केले के पत्ते का रस चार चम्मच सुबह-शाम लेना चाहिए।

नींबू

मधुमेह के मरीज को प्यास अधिक लगती है। डायबिटीज का घरेलू उपचार अत: बार-बार प्यास लगने की अवस्था में नींबू (Lemon) निचोड़कर पीने से प्यास की अधिकता शांत होती है।

खीरा

मधुमेह मरीजों को भूख से थोड़ा कम तथा हल्का भोजन लेने की सलाह दी जाती है। ऐसे में बार-बार भूख महसूस होती है। इस स्थिति में खीरा खाकर भूख मिटाना चाहिए।

गाजर–पालक

इन रोगियो को गाजर-पालक का रस मिलाकर पीना चाहिए। इससे आखों की कमज़ोरी दूर होती है और शुगर कम करने के उपाय के रूप में प्रयोग कर सकते हैं।

शलजम

मधुमेह के रोगी को

तोरई,परमल,पालक
पपीता,आदि का प्रयोग ज्यादा करना चाहिए।

शलजम के प्रयोग में भी रक्त में शुगर कम होने लगती है। डायबिटीज का घरेलू उपचार अत: शलजम की सब्जी, परांठे, सलाद आदि चीजें स्वाद बदल-बदल कर ले सकते हैं।

मोटा अनाज

मोटे अनाज न सिर्फ स्वास्थ्य के लिए बेहतर हैं बल्कि इनके इस्तेमाल से दिल की बीमारी, शुगर कम करने के उपाय, कैल्शियम की कमी और कई तरह की बिमारियों को ठीक करने में सहायक है | डायबिटीज का घरेलू उपचार धान की अपेक्षा छोटे खाद्यान्न जैसे मडुआ, कोदो, सावां तथा कुटकी आदि की पौष्टिकता अधिक है। इस संबंध में अनुसंधान में पाया गया है कि परंपरागत तौर से रसोईघर से बाहर कर दिए गए मोटे अनाज दिल की बीमारी, मधुमेह तथा डियोडिनम अल्सर से लड़ने में सहायक हैं।

जिनसैग (Ginseng Herb)

चीनी जड़ी-बूटी चीन की एक जड़ी-बूटी जिनसैग मधुमेह और मोटापे के इलाज में उपयोगी हो सकती है।

आयुर्वेद के अनुसार मधुमेह रोगियों को इन चीजो का मुख्य रूप से सेवन करना चाहिए-

हल्दी

शिलाजीत

आंवला

जामुन

गिलोय

गुडमार

करेला

नीम

आंवला

चिरायत

बेलफल

मैथी

 

Add comment

Your email address will not be published.

five × one =