आज बात करते हैं शेयर बाजार मे सफलता और असफलता की

शेयर मार्केट (Share Market) में इन ग्रहों पर निर्भर करती है आपकी हार-जीत/लाभ -हानी

शेयर मार्केट (Share Market) में हार-जीत का दौर तो चलता ही रहता है। आज हम आपको बताएंगें कि कुंडली (Kundli) के किन ग्रहों पर शेयर मार्केट में नफा-नुकसान निर्भर करता है और किस तरह से ये ग्रह शेयर मार्केट में आपकी किस्मत चमकाने में आपकी मदद कर सकते हैं। तो आइए एक नज़र डालते हैं कुंडली (Kundli) के ग्रहों पर जोशेयर बाजार मे सफलता शेयर मार्केट में फायदे और नुकसान को नियंत्रित करते हैं -:

राहु और चंद्रमा शेयर मार्केट (Share Market) नुकसान के कारक हैं तो गुरु और बुध फायदे के कारक ग्रह माने जाते हैं।

ग्रहों का उदय और अस्त शेयर मार्केट (Share Market) पर महत्वपूर्ण प्रभाव डालता है। वहीं ग्रहण का भी शेयर मार्केट (Share Market) पर भी असर पड़ता है। शेयर बाजार मे सफलता
जन्मकुंडली (Janamkundali) का पांचवां भाव मजबूत हो तो शेयर मार्केट में सफलता मिलती है। वहीं कुंडली (Kundali) में राहु के मजबूत होने पर भी स्टॉक मार्केट में मुनाफा होता है।

कुंडली (Kundali) में गुरु के मजबूत होने शेयर बाजार मे सफलता पर कमोडिटी मार्केट में मुनाफा होता है। बुध के शुभ प्रभाव में जातक शेयर मार्केट (Share Market) सलाहकार बनता है या शेयर मार्केट (Share Market) में अच्छा बिजनेस करता है।

यदि कुंडली (Kundali) में सूर्य और राहु, राहु और चंद्रमा या बृ‍हस्पति और राहु की युति हो तो जातक को शेयर मार्केट (Share Market) से दूर ही रहना चाहिए। दूसरे भाव में राहु हो तो शेयर मार्केट से दूर रहें।

यदि कुंडली (Kundali) में केंद्र में राहु हो तो जातक शेयर मार्केट (Share Market) में तो सफल होता है लेकिन किसी भी तरह से उस पर गरीबी छा जाती है।

इसके बाद लाभ स्थान अर्थात कुंडली के ग्यारहवे भाव की भी यहाँ महत्वपूर्ण भूमिका है क्योंकि किसी भी प्रकार से इन्वेस्ट किये गए धन से आपको लाभ प्राप्त हो पायेगा या नहीं या किस स्तर का लाभ जीवन में होगा यह लाभ स्थान और लाभेश की स्थिति पर निर्भर करता हैl

        ध्यान रहे किसी भी किस्म का जोखिम लेने से पहले किसी योग्य बहुत अनुभवी ज्योतिष से परामर्श जरूर करें !

Add comment

Your email address will not be published.

1 × three =